World Senior Citizen Day : 21 August

World Senior Citizen Day : 21 August : करंट अफेयर्स जीके डॉट को डॉट इन के सभी पाठकों के लिए हम ( World Senior Citizen Day और DRDO  मोबाइल मैटेलिक रैप (MMR) का हस्तांतरण भारतीय सेना को किया ) से सम्मिलित आर्टिकल प्रोवाइड कर रहे हैं जो कि आपके नॉलेज के लिए हेल्पफुल होगा पाठकों से निवेदन है कि यदि आपकी कोई सुझाव है तो आप हमें कृपया नीचे कमेंट के माध्यम से बता सकते हैं हम आपकी कमेंट का निश्चित ही रिप्लाई करेंगे |

World Senior Citizen Day : 21 August

World Senior Citizen Day : 21 August
World Senior Citizen Day : 21 August

हर वर्ष 21 अगस्त को ‘वर्ल्ड सीनियर सिटिजन डे’ के रूप में मनाया जाता है इसका मुख्य उद्देश्य बुजुर्गों को सहायता प्रदान करना और बुजुर्गों के देख-रेख के लिए जागरूकता फैलाना है इस दिवस के माध्यम से जो भी वरिष्ठ नागरिक होते हैं उन को प्रभावित करने वाले जितने भी कारक हैं उससे लोगों को अवगत कराया जाता है

इस दिवस के माध्यम से समाज के प्रति सीनियर सिटीजन के योगदान के लिए उनका आभार व्यक्त किया जाता है इस दिवस की शुरुआत 19 अगस्त 1988 को अमेरिका के राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन ने अपने घोषणापत्र पर हस्ताक्षर करके 21 अगस्त को अमेरिका में राष्ट्रीय वरिष्ठ नागरिक दिवस घोषित किया उसके बाद से यह दिवस 21 अगस्त को लगातार मनाया जा रहा है एवं इसके बाद संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 14 दिसंबर 1990 को 21 अगस्त को विश्व वरिष्ठ नागरिक दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की |

वरिष्ठ नागरिक दिवस कैसे मनाया जाए

उन वरिष्ठ नागरिकों के साथ समय बिताएं जिन्हें आप जानते हैं उन्हें बताएं कि उन्हें उनसे प्यार मिला है उन्हें  अकेला न छोड़ें क्योंकि अकेला होने पर उन्हें लगता है कि हमें कोई पूछ नहीं रहा और अपनी मुस्कुराहट उन लोगों के साथ साझा करें |

सरकार की तरफ से बुजुर्गों के लिए मुफ्त सुविधाएं

सरकार ने सीनियर सिटीजन के लिए इनकम टैक्स में छूट दी हुई है साथ में बैंकों की सेविंग स्कीम में अधिक ब्याज दी है ,सिविल अस्पताल में फिजियोथैरेपी की सुविधा, सिविल अस्पताल में अलग पंजीकरण और दवा की विंडो ,रेलवे और रोडवेज बसों में 50 परसेंट किराए में छूट ,समाज कल्याण विभाग की तरफ से हर महीने ₹2000 पेंशन, जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण की तरफ से फ्री कानूनी मदद इन्हें मिली हुई है |

DRDO ने Indian Army को मोबाइल मेटैलिक रैंप का डिजाइन सौंपा

20 अगस्त 2019 को रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन DRDO ने भारतीय सेना को मोबाइल मैटेलिक रैंप डिजाइन सौंपा डीआरडीओ के एक समारोह में भारतीय सेना के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अनबू  और डीआरडीओ अध्यक्ष जी सतीश रेड्डी उपलब्ध थे यह डिजाइन सेना प्रमुख को सौंपा गया |

इस मोबाइल मटैलिक रैप का इस्तेमाल 70 मीट्रिक टन भार उठाने में सक्षम है इसके द्वारा आर्मर्ड  फाइटिंग व्हीकल्स  को किसी एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने में आसानी होगी | DRDO एक सरकारी एजेंसी है यह भारत सरकार के लिए काम करते हैं और यह केंद्रीय रक्षा मंत्रालय के अधीन भी है इसकी स्थापना 1958  में की गई थी |

World Humanitarian Day : 19 August 2019

यह ‘मोबाइल मैटेलिक’ रैप सेना द्वारा बख्तरबंद वाहनों को जुटाने हेतु तथा समय को कम करने के लिए अनुमानित आवश्यकताओं पर आधारित है यह पोर्टेबल डिजाइन में मॉड्यूलर है जिसे आसानी से इकट्ठा या बनाया जा सकता है

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Close Menu