World Ozon Day 2019 | विश्व ओज़ोन दिवस 2019

World Ozon Day 2019: Currentaffairgk.co.in के सभी पाठकों के लिए आज हम र्ल्ड ओजोन डे 2019 के बारे में  विस्तार से बताएंगे पाठकों से निवेदन है कि यदि आपके World Ozon Day 2019 से सम्बंधित कोई सुझाव है तो हमें नीचे कमेंट के माध्यम से बताएं |

World Ozon Day 2019 | विश्व ओज़ोन दिवस 2019

पाठकों को यहां पर हम ओजोन परत के बारे में विस्तार से बताएंगे ओजोन परत पृथ्वी के  वायुमंडल में पाया जाने वाला एक परत होता है जो सूर्य  से आने वाले नीले अल्ट्रावायलेट किरणों को फिल्टर करता है मतलब धरती पर आने से रोकता है यह अल्ट्रावायलेट किरणें काफी खतरनाक होती हैं मानव शरीर पर यह  सीधे तरीके पड़ने से लोगों को चर्म रोग ,अंधापन और भी बहुत से रोग होने की संभावना होती है |

अल्ट्रावायलेट किरणों से पृथ्वी का तापमान भी काफी बढ़ जाता है जिससे प्रकृति का संतुलन बिगड़ता है सर्दियों के तुलना में अत्यधिक गर्मी पड़ती है और सर्दियां भी अनियमित रूप से आती हैं पहाड़ों पर ग्लेशियर भी पिघलने शुरू हो जाते हैं जिससे समुद्र के जलस्तर में वृद्धि होती है मतलब कुल मिलाकर पर्यावरण का असंतुलन होता है इसके अलावा ओजोन परत के सुरक्षित ना होने से मनुष्य पेड़ों और पशुओं के जीवन पर बहुत बुरा असर पड़ता है |

world ozon day 2019 हर साल 16 सितम्बर को मनाया जाता है-

वर्ल्ड ओजोन डे 2019 प्रतिवर्ष 16 सितंबर को मनाया जाता है. वर्ल्ड ओजोन डे के लिए 16 September 1987 में वियना संधि के तहत ओजोन परत के संरक्षण के लिए सभी देशों के द्वारा Sign किया गया एक समझौता साइन किया गया था. जिसके बाद से प्रतिवर्ष 16 सितंबर को world Ozon Day मनाया जाता है |इस वर्ष वर्ल्ड ओजोन डे 2019 की थीम  “32 ईयर एंड हीलिंग” है

ओजोन परत कैसे नष्ट हो रहा है –

ओजोन परत को सबसे अधिक नुकसान पहुंचाने वाला गैस क्लोरोफ्लोरोकार्बन है आज के समय में एयर कंडीशन यानी एसी से निकलने वाली गैसे हैं आजकल लोग अपने आराम और सुविधा के लिए एसी का इस्तेमाल करते हैं जिससे क्लोरो फ्लोरो कार्बन का उत्सर्जन होता है लोग अपने घरों में गाड़ियों में एरोप्लेन में जहां पर भी संभव होता है लोग ऐसी का इस्तेमाल करते हैं इसके अलावा और भी बहुत से कारक है जहां से ओजोन परत को नुकसान होता है |

ओजोन परत  विशेष रूप से 20 से 40 किलोमीटर के बीच वायुमंडल में पाई जाती है यदि ओजोन परत को पृथ्वी से हटा दिया जाए तो पृथ्वी का संतुलन काफी हद तक बिगड़ जाएगा और सर्दियों की तुलना में अधिक गर्मी पड़ेगी और सर्दियां अनियमित हो जाएंगी |

Ozon Layer को मिटाने में मानव हाथ धोकर पीछे पड़ा है –

इस प्रकृति से हमें अनमोल जीवन मिला है और मनुष्य उसी अनमोल जीवन को खुद ही खत्म करने पर तुला हुआ है लगातार मनुष्य प्रकृति के कार्यों में हस्तक्षेप करके इंसान खुद को मौत की तरफ ले जा रहा है जहां पर प्रकृति से उसे सिर्फ विनाश ही मिलेगा पृथ्वी पर गाड़ियों ने हवा को दूषित कर दिया है और पानी को भी दूषित करने से इंसान पीछे नहीं है |

सूर्य  से आने वाली अल्ट्रावायलेट रेडिएशन के बढ़ने से चर्म रोग कैंसर मोतियाबिंद और मनुष्य के शरीर का इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है सिर्फ इतना ही नहीं इसका असर जैविक विविधता पर भी पड़ता है इसका असर  समुद्र में छोटे-छोटे पौधों को भी प्रभावित करती है अल्ट्रावायलेट रेडिएशन के  प्रभाव से समुद्र की मछलियों व अन्य प्राणियों पर उसका प्रभाव पड़ता है जिससे उन प्राणियों की संख्या कम हो सकती है |

World Ozon Day 2019 को बचाने के उपाय-

ओजोन परत को बचाने के लिए लोगों को AC का कम से कम इस्तेमाल किया जाना चाहिए और आजकल बाजार में  ऐसे AC उपलब्ध है जोकि ओजोन फ्रेंडली है इसके अलावा आजकल मार्केट में फ्रिज और कूलर आदि भी आ गए हैं जो कि ओजोन Friendly है ,लोगों को चाहिए कि फोम के गद्दों  का इस्तेमाल ना करें और प्लास्टिक का जहां तक हो सके कम से कम इस्तेमाल हो उसके लिए लोगों को जागरूक किया जाए |

Motor Vehicle Act 2019 के साथ ही सभी DL-RC में कुछ बड़े बदलाव कराने होंगे

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Close Menu