प्रधान मंत्री मोदी ने e-RUPI, डिजिटल पेमेंट सॉलूशन लॉन्च किया

 

प्रधान मंत्री मोदी ने e-RUPI, डिजिटल पेमेंट सॉलूशन लॉन्च किया  : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डिजिटल पेमेंट 2 अगस्त 2021 को लांच किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से डिजिटल पेमेंट लॉन्च किया. डिजिटल पेमेंट के माध्यम से कैशलैस ट्रांजैक्शन किया जा सकता है.

प्रधान मंत्री मोदी ने e-RUPI, डिजिटल पेमेंट सॉलूशन लॉन्च किया

मुंबई की एक महिला ने इस ‘e-RUPI’ डिजिटल पेमेंट सर्विस  के माध्यम से वैक्सीनेशन के लिए भुगतान किया, जिसकी वजह से वह पुरे  भारत में e-RUPI सर्विस इस्तेमाल करने वाली पहली महिला बन गई  हैं.

इस e-RUPI  प्लेटफार्म को नेशनल पेमेंट्स कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया(NPCI) और डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंशियल सर्विसेज, मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर और नेशनल हेल्थ अथॉरिटी ने लॉन्च किया है.

कैसे काम करता है यह ‘e-RUPI’ डिजिटल पेमेंट सॉलूशन-

डिजिटल पेमेंट के इस सर्विस के माध्यम से स्पांसर और बेनेफिशरी को बिना किसी फिजिकल इंटरफेस के डिजिटल तरीके से कनेक्ट करता है. इसके साथ यह ट्रांजैक्शन कम्पलीट  होने के बाद सर्विस प्रोवाइडर को पेमेंट हो यह सुनिश्चित करता है.

e-RUPI सर्विस एक प्रीपेड पेमेंट सलूशन है. एक ऑफिशियल  सोर्स  के अनुसार यह एक लीक प्रूफ डिलीवरी की दिशा में उठाया गया कदम है. इसके माध्यम से सरकारी सेवाओं के तहत सेवाओं की डिलीवरी के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है.

इस तरह इशू होंगे e-RUPI वाउचर्स –

इस डिजिटल पेमेंट को NPCI ने अपने UPI प्लेटफार्म पर बनाया है और देश के सभी बैंक इस e-RUPI को जारी कर सकेंगे. किसी भी कॉरपोरेट या सरकारी एजेंसी को स्पेशिफिक पर्सन्स और किस उद्देश्य के साथ भुगतान किया जाना है, इसे लेकर सहयोगी सरकारी या निजी बैंक से संपर्क करना होगा.

बेनेफिशयरीज की पहचान मोबाइल नंबर के जरिए होगी और सर्विस प्रोवाइडर को बैंक एक वाउचर आवंटित करेगा जो किसी खास शख्स के नाम पर होगा जो सिर्फ उसी शख्स को डिलीवर होगा.

e-RUPI के फायदे –

  • इस सर्विस के माध्यम से सरकार कल्याणकारी योजनाओं को बिना किसी लीकेज के डिलीवर कर सकेगा.
  • इसका इस्तेमाल सरकारी योजनाओं जैसे आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत दवाइयां खरीदने में, टीबी उन्मूलन कार्यक्रम, मदर एंड चाइल्ड वेलफेयर स्कीम एवं इसके अलावा अन्य योजनाओं में भी इसका इस्तेमाल किया जा सकेगा.
  • इसके अलावा प्राइवेट सेक्टर भी अपने एम्पलाई वेलफेयर व कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी प्रोग्राम के तहत Digital voucher का इस्तेमाल कर सकेंगे.

इसे भी पढ़ें-

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: